google.com, pub-7859222831411323, DIRECT, f08c47fec0942fa0 त्वचा की ए टू जेड देखभाल

त्वचा की ए टू जेड देखभाल

सुंदर दिखने के लिए सबसे पहली जरूरत है चमकदार व साफ त्वचा। चेहरे को सुंदर बनाने के लिए मेकअप, क्रीम और फेशियल ही काफी नहीं है। इसके लिए स्किन की ए टु जेड देखभाल का फंडा जानना जरूरी है। 

  ए- एंटीऑक्सीडेंट 
 यह त्वचा की कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाता है। साथ ही सूर्य की नुकसानदेह अल्ट्रावायलेट किरणों से त्वचा की सुरक्षा करता है। एंटीऑक्सीडेंट से चेहरे पर चमक आती है। एंटीऑक्सीडेंट्स फल-हरी पत्तेदार सब्जियों में पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। 

  बी- बीटा कैरोटिन 
 शोध से साबित हो चुका है कि बीटा कैरोटिन त्वचा के लिए वरदान है। यह त्वचा को सूर्य की किरणों से होने वाले नुकसान से सुरक्षित रखता है। बीटा कैरीेटिन प्री मेच्योर एजिंग से बचाता है। गाजर में यह पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है और इसमें मौजूद विटमिन ए त्वचा को स्मूद और स्वस्थ रखने में मदद करता है। 

  सी- कोलेजन 
 इससे त्वचा को मजूबती मिलती है। 80 प्रतिशत त्वचा इस प्रोटीन से बनी होती है। यह त्वचा में कसाव लाता है और मजबूती प्रदान करता है। कोलेजन स्वाभाविक रूप से समय के साथ टूट जाते हैं पर कुछ तत्व रेटीनॉल और पेप्टाइड्स के रूप में नए कोलेजन बनाते हैं। शरीर में कोलेजन की मात्रा को बढाने के लिए हरी सब्जियों का भरपूर प्रयोग करें। 

  डी- ड्राइनेस 
 त्वचा के रूखेपन को दूर करने के लिए शरीर में पानी की कमी न होने दें। दिन में 8-10 ग्लास पानी और तरल पदार्थो का सेवन करें। दिन में दो बार बॉडी लोशन या क्रीम से मॉयस्चराइज करें। इससे त्वचा की नमी बरकरार रहेगी और वह खिली-खिली नजर आएगी। इसके अलावा चेहरा साफ करने के बाद 1/2 टी स्पून ग्लिसरीन में 2-3 बूंद गुलाबजल मिलाकर चेहरे पर लगाएं। रात में सोने से पहले ऐसा करें। 

  इ- एसेंशियल ऑयल 
 यह त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। मसलन एग्जीमा, रैशेज, जलन और लाली। एसेंशियल ऑयल त्वचा को ठंडक, ताजगी और चमक भी प्रदान करते हैं। त्वचा की िकस्म और जरूरत के मुताबिक एसेंशियल ऑयल इस्तेमाल करके आप गजब का निखार पा सकती हैं। मसलन रूखी त्वचा के लिए - सैंडलवुड, जैस्मिन और लैवेंडर, तैलीय व संवेदनशील त्वचा के लिए - टी ट्री, लैवेंडर और रोजमेरी। 

  एफ- फेशियल 
 धूल, प्रदूषण और धूप का सामना करते-करते त्वचा कुम्हला जाती है। इसलिए उसे आराम देने के लिए नियमित रूप से फेशियल बहुत जरूरी है। फेशियल का मतलब सिर्फ मसाज से ही नहीं होता है। इसमें त्वचा की डीप क्लींजिंग की जाती है। ताकि बंद छिद्र खुल जाएं और त्वचा खुल कर सांस ले सके। इससे त्वचा को पोषण मिलता है और कुदरती चमक आती है। 

  जी- ग्लिसरीन 
 त्वचा की कुदरती नमी बरकरार रखने के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल करें। खास तौर पर यह रूखी त्वचा के लिए वरदान है। पैक या उबटन में इसका इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है। त्वचा की स्क्रबिंग के लिए ग्लिसरीन में शक्कर/चीनी मिलाएं। यह संवेदनशील त्वचा के लिए एक बेहतरीन स्क्रब है। जहां यह मृत कोशिकाएं हटाता है, वहीं त्वचा को कांतिमय बनाता है। 

  एच- हनी 
 शहद एक बेहतरीन एंटी एजिंग तत्व है। सुंदरता की प्रतिमूर्ति क्लियोपैट्रा भी अपनी त्वचा की देखभाल के लिए शहद का इस्तेमाल करती थीं। शहद में एक प्राकृतिक एंजाइम होता है, जिसे ग्लुकोज ऑक्साइड कहते हैं, जिसे पानी के साथ मिलाने पर हाइड्रोजन परॉक्साइड बनता है (यानी माइल्ड एंटीसेप्टिक)। इसमें एंटीऑक्सीाडेंट्स भी होते हैं। रूखी त्वचा के लिए शहद एक बेहतरीन नैचरल मॉयस्चराइजर है। हनी क्लींजर बनाने के लिए 1/4 कप शहद, 1 टेबलस्पून लिक्विड सोप और 1/2 कप ग्लिसरीन एक साथ मिलाएं। अब फेस स्पॉन्ज की सहायता से चेहरे पर हलके से लगाएं। हलके गुनगुने पानी से धोएं और थपथपाकर सुखाएं। 

  आई- आयोडीन 

 नाखूनों की मजबूती के लिए यह बहुत अच्छा होता है। ऑलिव ऑयल में आयोडीन मिलाकर नाखूनों पर कुछ देर मलें। 15 मिनट बाद धो लें। 

  जे- जोजोबा ऑयल 
 इसमें एंटीबैक्टीरियल तत्व होते हैं, जो एक्ने से छुटकारा दिलाते हैं। यह रूसी की समस्या भी दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा यह रूखी त्वचा को कांतिमय बनाता है, झुर्रियां और दाग-धब्बों को कम करने में मदद करता है। 

  के- कीवी फेस पैक 
 यह त्वचा की झुलसन और कालापन दूर करता है। इसे बनाने के लिए 4-5 भीगे हुए बादाम का पेस्ट, आधा कप बेसन, 2-3 टेबल स्पून दूध और 2-3 टुकडे कीवी फू्रट को एक साथ ब्लेंड करके त्वचा पर लगाएं। 15 मिनट बाद ठंडे पानी से साफ करें। 

  एल- लेमन 
 नीबू एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट है। नीबू के रस में विटमिन सी और सिट्रिक एसिड होता है। इसे फेशियल क्लींजर के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें मौजूद विटमिन सी झुर्रियां कम करता है और सिट्रिक एसिड दाग-धब्बों को हटाता है। 

  एम- मिल्क 
 दूध त्वचा को कोमल, मुलायम और चमकदार बनाता है। इसे शहद के साथ मिलाकर मास्क तैयार और चेहरे पर लगाएं। इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड से त्वचा की रंगत में निखार आ जाता है। 

  एन- नट्स
इनमें जरूरी फैटी एसिड होते हैं, जो त्वचा की कुदरती चमक, बारीक लकीरों और झुर्रियों को कम करने में मदद करते हैं। 

  ओ- ओमेगा 3 फैटी एसिड
यह हृदय की सेहत के लिए बहुत जरूरी है। फैट से लडता है। इसके सेवन से चेहरे पर कुदरती चमक आती है। ओमेगा 3 फैटी एसिड व्हीट जर्म ऑयल, अखरोट, फ्लेक्स सीड (अलसी) और कद्दू के बीज में पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। 

  पी- पटैटो 
 आंखों के काले घेरों को कम करने के लिए आलू के टुकडे को कुछ देर आंखों के आसपास मलें। यह त्वचा की टैनिंग दूर करता है।

  क्यू- क्विक फिक्स
अपने पर्स में कुछ ऐसे ब्यूटी प्रोडक्ट्स रखें, जो आपकी त्वचा को मुलायम और कांतिमय बनाने में मदद करें। मसलन वेट टिश्यू, सनस्क्रीन क्रीम, मॉयस्चराइजर और लिप बाम, एंटी रिंकल क्रीम। 

  आर- रोज वॉटर 
गुलाबजल में एंटी इन्फ्लामेटरी तत्व होते हैं, जो त्वची की जलन को दूर करके ठंडक प्रदान करते हैं। यह एक बेहतरीन क्लींजर है और त्वचा के बंद छिद्र को खोल देता है। एक्ने और मुंहासों की समस्या से निजात दिलाता है। फेसपैक में इसका खूब इस्तेमाल किया जाता है। यह त्वचा की नमी को बनाए रखता है। झुर्रियां कम करता है। 

  एस- सन प्रोटेक्शन
सनस्क्रीन सबसे फायदेमंद एंटी एजिंग टूल है। 90 फीसदी त्वचा की बीमारियां यूवीए या यूवीबी किरणों के कारण होती हैं। इसलिए चाहे धूप हो या बादल सनस्क्रीन हमेशा लगानी जरूरी है। 

  टी- टी ट्री ऑयल 
यह त्वचा की जलन, खुजली और लाली को कम करता है। त्वचा को ताजगी और ठंडक देता है। इसमें मौजूद एंटी वायरल और एंटीफंगल तत्व एक्ने से बचाते हैं। यहां तक कि इसका इस्तेमाल डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए भी किया जाता है। यह एक स्किन टॉनिक का काम करता है। 

  यू- अंडर आई सर्कल
चेहरे के बाकी हिस्सों की तुलना में आंखों की मांसपेशियां जल्दी कमजोर होती हैं। इसलिए असमय काले घेरे बनने लगते हैं। बेहतर होगा कि आई क्रीम के जरिये परेशानी को शुरू होते ही खत्म कर दें। 

  वी- विटमिन ई 
चमकदार त्वचा के लिए यह बहुत जरूरी है। यह झुर्रियों को कम करता है और त्वचा में कसाव लाता है। आप इसे पैक के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं- 1 एवोकैडो छिला और कटा हुआ, 1 टी स्पून विटमिन ई ऑयल या 1 विटमिन ई जेल कैप्सूल, 1/2 टी स्पून ग्लिसरीन को एक साथ ब्लेंड में अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट तैयार करें। इसे चेहरे पर लगाएं। 10-15 मिनट बाद हलके गुनगुने पानी से साफ करें। 

  डब्ल्यू- वॉटर 
त्वचा की ताजगी, चमक और नमी बरकरार रखने के लिए पानी बहुत जरूरी है। पानी की कमी से त्वचा रूखी नजर आती है। 

  एक्स- एक्सफोलिएट 
सुंदर त्वचा के लिए एक्सफोलिएशन के जरिये मृत त्वचा हटा दें। ये प्रक्रिया सप्ताह में एक बार करें। इससे चेहरे पर स्वाभाविक चमक आ जाती है। 

  वाई-यूथफुल स्किन 
छोटी उम्र में चेहरे पर उम्र के निशान न दिखें इसके लिए नियमित रूप से क्लींजिंग, टोनिंग और मॉयस्चराइजिग रुटीन अपनाएं। इसके अलावा धूप से बचने के लिए सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करें।

  जेड- जुकीनी 
एक कप जुकीनी में 36 कैलरी और 10 प्रतिशत डाइटरी फाइबर होता है, पाचन शक्ति बढाता है, लो ब्लड शुगर को बरकरार रखता है। इसमें मौजूद अमीनो एसिड कोलेजन बनाते हैं, जिससे त्वचा स्वस्थ और साफ-सुथरी रहती है।

Post a Comment

0 Comments